Search This Blog

Saturday, 15 August 2015

आज़ादी का जश्न मुबारक

आज़ादी का जश्न मुबारक
ये मत भूलो रखो ध्यान
आज के दिन ही भारत माँ की
कोख से निकला पाकिस्तान ,
जलते घर और अगनित लाशें
मानवता हुयी लहूलुहान
माँ की कोख से
बड़े दर्द से
आज था निकला पाकिस्तान ...
एक तरफ लाल किले पर
शोर पटाखे ,लाउडस्पीकर
एक तरफ बेघर बाशिंदे
खोजते अपनों को रो रो कर ...
तन के वसन साथ थे केवल
बिछुड़ गए खेत खलिहान
माँ की कोख से
बड़े दर्द से
आज था निकला पाकिस्तान ...
आज़ादी का जश्न मुबारक
अनिल