Search This Blog

Monday, 27 July 2015

एक हैं आधे आधे हम तुम

आधा चाँद और आधी रात,
आधा भीगा भीगा सा मौसम ,
बूंदों के पैरों में घुँघरू ,
आधा रुनझुन आधा छमछम,
आधी आधी खुली खिड़की से,
आधा हवा का झोंका मध्यम  ,
आधा सूखे आधा गीले,
एक हैं आधे आधे हम तुम ........
anil